शेयर मार्केट क्या है || Share Market Kya Hai

शेयर मार्केट क्या होता  है || Share Market Kya है  हिंदी में 

दोस्तों, आज हम हिंदी में जानेंगे शेयर मार्केट क्या है (Share Market Kya Hai )। आज मैं आपको बहुत आसान भाषा में बताऊंगा कि शेयर मार्केट क्या होता (Share Market Kya Hota Hai) है |

शेयर मार्केट क्या है ( Share Market Kya Hai )

“शेयर मार्केट, स्टॉक मार्केट, इक्विटी मार्केट इन तीनों का एक ही अर्थ होता है | शेयर मार्केट वह मार्केट (Market) होता है जहां आप किसी कंपनी का शेयर यानी ( हिस्सा ) खरीद सकते हो या बेच सकते हो शेयर खरीदने का मतलब होता है उस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी खरीदना |”

ये भी पड़े :

Share Market की सामान्य बाजार की तरह ही होता है 

जैसे –  आप अपने आसपास के बाजार में जाते हैं और अगर आपको कोई सामान लेना होता  है तो उस सामान का दाम पूछते हैं और  जब दुकानदार आपको उस सामान का दाम बताता है

तो आप उससे मोलभाव करने लगते हैं और मोलभाव करने के बाद जब आपको लगता है इस सामान का दाम अब सही है तो आप सामान को खरीद लेते हैं 

ठीक उसी प्रकार शेयर मार्केट में भी होता है यहां पर शेयर का मोल-भाव किया जाता है और जब लोगों को लगता है कि इस शहर का सही मूल्य मिल रहा है तब उस शेर को खरीद या  बेच देते हैं |

 शेयर बाजार दो प्रकार के होते है

  1. प्राइमरी मार्केट

  2.  सेकेंडरी मार्केट

प्राइमरी मार्केट क्या होता है ?

जब कोई कंपनी पहली बार शेयर मार्केट में लिस्टेड होती है तो वह कंपनी पहली बार अपना शेयर प्राइमरी मार्केट में ही जारी करती है जिसे कंपनी का आईपीओ (IPO) कहा जाता है

प्राइमरी मार्केट में कंपनी और इन्वेस्टर के बीच सीधे लेनदेन होता है जिसमें कंपनी को इन्वेस्टर से डायरेक्ट पैसे मिल जाते हैं और इन्वेस्टर को कंपनी का शेयर मिल जाता है

सेकेंडरी मार्केट क्या होता है ?

प्राइमरी मार्केट से खरीदे गए आईपीओ को इन्वेस्टर सेकेंडरी मार्केट में बेचते हैं

सेकेंडरी मार्केट को स्टॉक एक्सचेंज मार्केट भी कहा जाता है

जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं तो आप उस समय सेकेंडरी मार्केट में ही ट्रेड कर रहे होते हैं

सेकेंडरी मार्केट में कंपनी शामिल नहीं होती हैं यहां सेलर और बाहर के बीच लेनदेन होता है |

स्टॉक एक्सचेंज क्या होता है

सेकेंडरी मार्केट को ही स्टॉक एक्सचेंज मार्केट कहा जाता है