Bharat Ki Khoj Kisne Ki:भारत की खोज किसने की थी और कब?

(Akibab )
0

Bharat Ki Khoj Kisne Ki thi - भारत की खोज किसने की 

हेलो दोस्तों तो कैसे हैं आप आज मैं आपको बताऊंगा भारत की खोज किसने की थी;और कब की जैसे कि आप लोग जानते हैं जब हम अपने पैरों पर खड़े हो जाते हैं तब हमारे बाबा हमें स्कूल भेजते हैं पढ़ने के लिए और तो बचपन से ही पूछा जाता है कि भारत की खोज किसने की थी | भारत की खोज वास्कोडिगामा ने किया था| लेकिन सवाल ये उठता भारत का अस्तित्व कुछ नहीं था

तो हम लोगों को भारतीय नागरिक के तौर पर पता होना चाहिए  की भारत की खोज किसने की थी तो इसके बारे में आपको विस्तार से बताएंगे हमारे इस पोस्ट के माध्यम से जान लोगे तो भारत का इतिहास क्या रहा है ?आपने वास्को डी गामा ने भारत की खोज नहीं की थी,उसने तो मात्र एक समुद्री रास्ते की खोज की थी,जो भारत तक पहुंचता है!बचपन से हमें यही पढ़ाया गया यही रटाया गया! पर अब सब जागरूक हो चुके हैं

read more

भारत की खोज किसने की और कब की थी

Bharat Ki Khoj Kisne Ki
Bharat Ki Khoj Kisne Ki thi 

हमारे भारत की खोज पुर्तगाल के समुद्र यात्री, खोजकर्ता वास्कोडिगामा ने 20 मई 1498 ईस्वी को की थी। वो वर्तमान भारतीय राज्य केरल के कालीकट बंदरगाह पर अपने साथ चार जलसैनिक के साथ समुद्री मार्ग से होकर पहुंचा था। तब कालीकट के तत्कालीन हिन्दू राजा जमोरिन ने वास्कोडिगामा का स्वागत किया गया  किया था। 

भारत की खोज किसी ने नहीं की थी।बल्कि भारत पहले से ही था, चीनी यात्री ह्वेनसांग आया,बहुत सारे लोग भारत आए,उन्होंने तो ये नहीं कहा कि मैंने ज़मीन मार्ग से भारत की खोज करी।है,इससे पहले हमारे यहां के लोग कपड़े बेचने समुद्री मार्ग से जाते थे।बल्कि वास्कोडिगामा भारत पहली बार आया था,और उन्होंने एक और समुद्री मार्ग की खोज की भारत को लूटने का जरिया बनाने के लिए।उसके बाद सारे लुटेरों के लिए मुंह खोल दिया।पुर्तगाली के बाद डच उसके बाद फ्रांसीसी उसके बाद अंग्रेज।बस ये लुटेरा था। 

People also ask

भारत की खोज कब हुआ और किसने किया?

भारत की खोज किसी ने नहीं की थी।बल्कि भारत पहले से ही था,

भारत की खोज कैसे हुई थी?

चीनी यात्री ह्वेनसांग आया,बहुत सारे लोग भारत आए,उन्होंने तो ये नहीं कहा कि मैंने ज़मीन मार्ग से भारत की खोज करी


Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
एक टिप्पणी भेजें (0)